Sunday, April 20, 2008

कहीं आपके घर में तो कोई शबनम नहीं रहती... : आप भी शामिल हैं कुनबे के कत्ल में ...

कहते प्यार अंधा होता है ... मगर ऐसा प्यार खुदा करें किसी को ना हो ... जो अपने परिवार को ही खत्म करवा दे ...

देश के सबसे बड़े सूबे, प्रदेश Uttar Pradesh का JP Nagar जिला.
तारीख 14 April. यहाँ हत्या होती है 7 लोगों की.
सभी एक ही परिवार के.
इस परिवार में बच जाती है सिर्फ़ एक शबनम ...

क्या कोई सोच सकता ...
सात लोगों के murder में शबनम का हाथ हो सकता है ...

नहीं ...मगर यहीं सच है ...

सलीम से शादी करने के उसने अपने पूरे परिवार की बलि दे दी.
कहीं आपके घर में तो कोई शबनम नहीं रहती ...

अगर हाँ,
... तो
...संभाल जाए
कहीं फ़िर कोई जेपी नगर नरसंहार ना हो जाए



आप भी शामिल हैं कुनबे के कत्ल में ...
पूछिये अपने आप से ...

क्या आपने कभी अपने बच्चों की बात सुनी है ...
उनको समझने की कोशिश की है ....

शबनम क्यों कर अपने ही कुनबे- परिवार- खानदान की कातिल बन गई
...आख़िर क्या पहाड़ टूट पड़ता, खर शबनम और सलीम शादी कर लेते ...

क्या होता बताइए ...
बोलिए ...
मैं आपसे पूछता हूँ ...
आपसे ... और आपसे भी ...

मेरे सवाल से आप बच नहीं सकते ...

आपका जवाब मुझे पता है ...
सदियों पुराना ... बरसों पुराना जवाब

...मुझसे सुनें ...शबनम-सलीम की शादी से ... कम- से- कम
...खानदान के सात लोगों की जान तो बच जाती ...

Couple held for murder of 7 in UP
19 Apr 2008, 1628 hrs IST , PT
LUCKNOW: Uttar Pradesh police on Saturday claimed to have worked out the mystery behind mass murder of seven members of a family in JP Nagar district on April 14, with the arrest of the only surviving member and her accomplice. Director General of Police, Vikram Singh told reporters here that 24-year-old Shabnam and her accomplice Salim have confessed to have killed seven persons as the family was opposed to relationship between the two due to difference in their social status. As per the conspiracy, the woman served sedative-laced tea to the family in the evening and left the main gate of the house open for her friend Salim, who hacked to death six persons with an axe, police said. The axe has been recovered from a nearby pond, the DGP said, adding that Shabnam also confessed strangulating an year-old boy. All the evidences, including the blood stained clothes of the two have been recovered, the DGP added.

Times of india/Lucknow

3 comments:

राज भाटिय़ा said...

जो प्यार का अर्थ जानते हे, वह किसी की जान नही लेते, इन दोद्नो को प्यार का कुछ नही मालुम. ओर इन की सजा बस एक हे... सजाऎ....
अरे मां वाओ सारी उमर एक बच्चे को पलते हे,क्या वो प्यार नही , जिन भाई बहिनो को मारा कया उन से प्यार नही था,इन दोनो को कोइ प्यार व्यार नही था बस वासना थी,प्यार त्याग मागता हे. अगर मुझे सजा का हक हो तो इन के लिये कोइ रहम नही

TRISHNA said...

maine
sabnam wali khabar padhi.
tumhare sawal apne jagah par sahi hai.

par present social environment aur samajik tana bana ke adhar par tumhe sirf aur sirf nariwadi hi kaha jayega.

halanki sabnam ke liye situation difficult tha par in my opinion use mata pita ki hi bat manni chahiye.

jis maan bap ne janm diya use apne bachchon ka bhala bura sochne ka pura adhikar hai.


RAM SURESH SINGH
HARIBHOOMI, RAIPUR

अमिताभ फौजदार said...

good one ... tks for information ....!!